Breaking News

40 लाख केसीसी लक्ष्य के सापेक्ष 10 लाख कार्ड जारी-सूर्य प्रताप शाही

फसल बीमा कराएं, सुरक्षा कवच पाएं कृषि मंत्री

बैंकर्स 10 दिनों का विशेष अभियान चलाकर कराएं फसल बीमा

अल्पवर्षण से प्रभावित जिलों में बीजों के मिनीकिट बांटे जाएंगे

पूजा श्रीवास्तव

25 करोड़ की आबादी में दस लाख किसान क्रेडिट कार्ड हैं जबकि इसका लक्ष्य 40 लाख का है। इसको बढ़ाने की हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन स्थितियां अनुकूल ना हो रही लगातार समीक्षा बैठकें हो रही कर रहे हैं। यें बातंे प्रेसवर्ता के दौरान उत्तर प्रदेश कृषि कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कृषि निदेशाल लखनऊ में कही।

बुंदेलखंड में दो दित से जुड़ी वैल्यू ऐडेड कंपनियों ने टाईअप किया था उसका क्या हुआ इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हमने इन्वेस्टर सम्मिट में जो मेमोरेंडम आफ अंडरस्टैंडिंग किया था उनको धरातल में उतारने के लिए 8000 करोड़ों लैंडबैंक के लिए
रिजर्व किया है और बुंदेलखंड के लिए 200000 करोड़ से ज्यादा की एमओयू साइन हुए थे उनको धरातल पर जल्द ही उतारा जाएगा।

सवाल किसानों के साथ लगातार प्रीमियम बढ़ता जा रहा है लेकिन उसके सापेक्ष में किसानों को मिलने वाला क्षतिपूर्ति कम हो रही है तो इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि 4800 करोड की क्षतिपूर्ति पूरी की गई है और बचे धन की जल्दी ही क्षतिपूर्ति की जाएगी

प्रदेश के कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही द्वारा खरीफ सीजन के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा की तिथि 10 अगस्त 2023 तक बढ़ाये जाने के बाद किसानों का अधिक से अधिक बीमा कराये जाने, खरीफ 2023 मौसम में क्रियाशील के०सी०सी० के सापेक्ष अब तक हुए बीमा कवरेज, पात्र किसानों को नया किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने तथा गैर ऋणी कृषकों की भागीदारी की समीक्षा की गई।

कृषि मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को आपदा से राहत मिल सके इसके लिए भारत सरकार से अनुरोध करने पर 10 अगस्त तक बीमा कराने की तिथि बढ़ा दी गई है।
उन्होंने बैंकरों को कहा कि जनपद स्तर पर बीमा कंपनियों के कार्यालय खोले जाएं। इन कार्यालयों का उद्घाटन सांसदों, विधायकों, जनप्रतिनिधियों, जिला अधिकारी अथवा मुख्य विकास अधिकारी से कराएं। उन्होंने बैंकर्स से कहा कि दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों के किसानों तक अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करें। इसके लिए प्रचार वाहनों, समाचार पत्रों तथा सोशल मीडिया का प्रयोग करें। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि किसान क्रेडिट कार्ड एनपीए में ना जाने पाएं। इसके लिए किसानों को समय-समय पर जागरूक करते रहें।

कृषि मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार हर परिस्थिति में किसानों के विकास के लिए समर्पित है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 14 जनपद जो कम वर्षा से प्रभावित हैं वहां किसानों को अरहर, उड़द तथा मूंग आदि के बीजों के मिनीकिट वितरित किए जाएंगे। ताकि किसान अपने खेतों में समय से आच्छादन कर सकें। इसके लिए लगभग डेढ़ लाख मिनीकिट उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इसके माध्यम से लगभग 5800 कुंतल बीज निरूशुल्क वितरित किया जाएंगे। कम वर्षा वाले इन 14 जनपदों में शामिल हैं- झांसी, ललितपुर, जालौन, हमीरपुर, महोबा, बांदा, चित्रकूट, मऊ, देवरिया, कुशीनगर, चंदौली, मिर्जापुर, कौशांबी तथा पीलीभीत।

 

 

About ATN-Editor

Check Also

लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 में 70 प्रतिशत से अधिक मतदान कराये जाने का प्रयास किया जाय-मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा

नागरिकों को जागरूक करने के लिए स्वीप गतिविधियों को तेजी से संचालित करें सभी विभाग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *