Breaking News

बैंक ऑफ़ बड़ौदा पुराने और नए का एक अनूठा मिश्रण है-देबदत्त चॉद

 

बैंक ऑफ बड़ौदा ने मनाया अपना 116वां स्थापना दिवस
बैंक के 116वें वर्ष की थीम है एसीई – सिद्धि, सहयोग, समृद्धि भविष्य की बैंकिंग की आधारशिला का निर्माण”

पूजा श्रीवास्तव

बैंक ऑफ़ बड़ौदा पुराने और नए का एक अनूठा मिश्रण है। यह 115 वर्षों की समृद्ध विरासत वाला एक ऐसा बैंक है, जो नवोन्मेषिता को अपनाकरअपने ग्राहकों और अन्य प्रमुख हितधारकों का विश्वास और संरक्षण पाने के लिए निरंतर खुद को नए सिरे से तैयार कर रहा है। यें बातें बैंक ऑफ बड़ौदा के 116वें स्थापना दिवस के मौके पर, बैंक के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी देबदत्त चाँद ने कही।

उन्होंने कहा कि बैंक के 116वें वर्ष की थीम है एसीई – सिद्धि, सहयोग, समृद्धि भविष्य की बैंकिंग की आधारशिला का निर्माण जो बैंक के लिए बड़े सपने देखने, उत्कृष्टता के लिए प्रयास करने और एक मज़बूत, अधिक समृद्ध और साझा भविष्य का निर्माण करने के उद्देश्य तय करती है।

देबदत्त चॉद ने कहा कि बैंक की स्थापना दूरदर्शी और समाज सुधारक महाराजा सयाजीराव गायकवाड़ द्वारा की गई थी। 1908 में बड़ौदा के मांडवी में स्थापित की गई पहली शाखा से, बैंक ऑफ़ बड़ौदा ने आज खुद को देश के दूसरे सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के रूप में स्थापित कर लिया है।17 देशों में नेटवर्क के साथ बैंक ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी मज़बूत उपस्थिति दर्ज की है।

इस मौके पर, बैंक ने एमएसएमई, विज्ञान और चिकित्सा, साहित्य, समाज सेवा, उद्योग, खेल, कला और सिनेमा के क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले ग्राहकों को सम्मानित भी किया।

बॉब लखनऊ अंचल ने किया विभिन्न कार्यक्रम

बैंक ऑफ बड़ौदा, लखनऊ अंचल,उत्तर प्रदेश द्वारा विभिन्न सामुदायिक सेवा कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। सामुदायिक सेवा के कार्यक्रम के अंतर्गत बैंक द्वारा रक्तदान एवं स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया गया उसके साथ लखनऊ विश्वविद्यालय में 116वां स्थापना दिवस के स्मरण चिन्ह के रूप में 116 छायादार वृक्ष लगायें गये एवं कार्पाेरेट सामाजिक दायित्व के अंतर्गत लखनऊ अंचल के अंचल प्रमुख व महाप्रबंधक राजेश कुमार सिंह के नेतृत्व में स्टाफ सदस्यों ने लखनऊ के अलीगंज स्थित श्री राम औद्योगिक अनाथालय पहुंच कर अनाथालय के बच्चों एवं प्रबन्धन के साथ स्थापना दिवस की खुशियों को साझा किया।

इस अवसर पर बैंक स्टाफ ने अनाथालय में दैनिक उपयोग की आवश्यक वस्तुओं, इनवर्टर एवं बैटरी इत्यादि भेंट किया गया आजादी के अमृत महोत्सव भारत की आजादी के 75 वें वर्ष को मनाने की दिशा में प्रधानमंत्री महोदय द्वारा शुरू किया गया सबसे महत्वाकांक्षी और प्रतिष्ठित अभियान के तहत अंचल के विभिन्न क्षेत्रों में नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया अंचल प्रमुख व महाप्रबंधक राजेश कुमार सिंह ने इस अवसर पर कहा कि बैंक हमेशा समाज व राष्ट्र की उन्नति में अग्रणी रहा है तथा समय-समय पर राष्ट्र के निर्माण व अपनी सामाजिक एवं सामुदायिक दायित्यों का भी निर्वहन उत्कृष्ट तरीके से करता रहा है।

………………

 

 

About ATN-Editor

Check Also

“पर्वतमाला परियोजना” के तहत आने वाले पांच वर्षों में 1.25 लाख करोड़ रुपये की लागत से 200 से अधिक परियोजनाएं- मंत्री नितिन गडकरी

  हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता समग्र परियोजना लागत को कम करके रोपवे को आर्थिक रूप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *