Breaking News

निर्वाचक नामावलियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण के उपरान्त अंतिम प्रकाशन-मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तर प्रदेश

अर्हता तिथि 01 जनवरी, 2024 के आधार पर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की

मतदाता सूची में विद्यमान प्रविष्टियों में संशोधन, डुप्लीकेट मतदाता फोटो पहचान पत्र हेतु आवेदन, शिफ्टेड मतदाताओं के लिए आवेदन और दिव्यांग मतदाताओं के चिन्हांकन हेतु निर्धारित फार्म-8 की व्यवस्था दी गयी है तथा इस संबंध में प्रचार-प्रसार किया गया। इस बात पर विशेष ध्यान आकर्षित किया गया कि किसी वर्तमान मतदाता के एक स्थान से दूसरे स्थान पर स्थानान्तरण की दशा में फार्म-8 का उपयोग किया जाए न कि फार्म-6 का। इस पुनरीक्षण अवधि में फोटो सिमिलर इन्ट्रीज, डेमोग्राफिकल सिमिलर इन्ट्रीज एवं नामावली में विद्यमान त्रुटियों को दूर करने सम्बन्धी कार्य का भी सफलतापूर्वक निष्पादन किया गया।यें बातें प्रेसवार्ता में प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा ने जनपथ सचिवालय स्थित अपने कार्यालय के 7वें तल में स्थापित मीडिया सेन्टर में
कही।।

उन्होंने बताया कि उन्होंने बताया कि निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण हेतु प्रदेश के सभी 18 मण्डलायुक्तों को नामावली प्रेक्षक (रोल प्रेक्षक) नियुक्त किया गया। इन प्रेक्षकों द्वारा भी अपने मण्डलों में पुनरीक्षण कार्य की समीक्षा की गयी। मुख्य निर्वाचन अधिकारी एवं मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के अन्य अधिकारियों द्वारा भी विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण-2024 से सम्बन्धित कार्यों का निरन्तर भ्रमण करते हुए सतत पर्यवेक्षण एवं समीक्षा की गयी।
विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण के दौरान समय-समय पर सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों एवं निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेसिंग भी की गयी तथा इस कार्यालय के अधिकारियों द्वारा जनपदों में पुनरीक्षण कार्य की समीक्षा हेतु भ्रमण भी किया गया। जनपद मे सभी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय एवं राज्यीय राजनैतिक दलों को आलेख्य मतदाता सूची की प्रतियाँ उपलब्ध करायी गयी तथा अन्तिम प्रकाशित मतदाता सूची की प्रतियाँ उपलब्ध करायी जा रही हैं।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत आयोग के निर्देशानुसार दिनाँक 04.11.2023, 05.11.2023, 25.11.2023, 26.11.2023, 02.12.2023 तथा 03.12.2023 को दावंे और आपत्तियाँ प्राप्त करने हेतु विशेष अभियान की तिथियाँ निर्धारित थी, जिसका सुनियोजित मतदाता शिक्षा एवं निर्वाचक सहभागिता(एसवीईईपी) के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार किया गया। प्रत्येक शैक्षणिक संस्थाओं में युवा मतदाताओं के पंजीकरण हेतु डेडीकेटड सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों के निर्देशन में अभियान चलाया गया। पूर्व से पंजीकृत मतदाताओं द्वारा अपना नाम चेक करने और मतदाता सूची में अपने से संबंधित विवरण की पुष्टि करने के लिए ‘‘रु मैं हँू ना’’ अभियान चलाया गया। मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तर प्रदेश की वेबसाइट, वोटर पोर्टल तथा वोटर हेल्प लाइन एप के क्यूआर कोड का व्यापक प्रचार-प्रसार डिजीटल/सोशल मीडिया के माध्यम से कराया गया। स्कूल/कॉलेजों तथा आश्रम स्कूल/एकलव्य आवासीय मॉडल स्कूल के छात्र/छात्राओं के मध्य माता/पिता से मतदाता सूची में अपना नाम चेक करने एवं अर्ह व्यक्तियों के नाम सम्मिलित किए जाने के उद्देश्य से सभी शैक्षिक विभागों के माध्यम से संकल्प पत्र वितरित कराए गए।
अर्ह एवं छूटे हुए दिव्यांग, बेघर, पी0वी0टी0जी0 सेक्स वर्कर्स तथा महिलाओं के नाम मतदाता सूची में सम्मिलित किए जाने हेतु इस अभियान को समावेशी अभियान के रूप में मनाया गया। मतदेय स्थलों के सम्भाजन के उपरान्त वर्तमान समय मे प्रदेश मे कुल 1,62,012 मतदेय स्थल हैं। प्रदेश की सबसे बड़ी विधानसभा क्षेत्र साहिबाबाद (गाजियाबाद), जिसमें कुल मतदाता 10,33,312 है तथा सबसे छोटी सीसामऊ (कानपुर नगर), जिसमें कुल मतदाता 2,69,873 हैं।
आलेख्य प्रकाशन के समय प्रदेश में मतदाताओं की कुल संख्या 15,03,39,879 थी, जो कि अब दिनाँक 23.01.2024 को अन्तिम रूप से प्रकाशित नामावली में मतदाताओं की संख्या 15,29,24,062 हो गयी है, जिसमें कुल 8,14,33,752 पुरूष, 7,14,82,605 महिला, 7705 थर्ड जेंडर एवं 1153 विदेशों में रहने वाले ओवरसीज मतदाता हैं। पुनरीक्षण में कुल 57,03,304 मतदाता सम्मिलित हुए और कुल 31,19,121 मतदाता विलोपित हुए। इस प्रकार मतदाता सूची मे शुद्ध रूप से कुल वृद्धि 25,84,183 की हुई। इस पुनरीक्षण के दौरान कुल 57,03,304 नये मतदाताओं के नाम जोड़े गए हैं, जिसमें 25,77,967 पुरूष, 31,24,901 महिला एवं 436 तृतीय लिंग के मतदाता हैं।
मतदाता सूची में आलेख्य प्रकाशन के समय जेण्डर रेशियो 867 था, जो अंतिम प्रकाशित नामावली में 878 हो गया अर्थात् जेण्डर रेशियो में भी 11 अंकों की वृद्धि हुई है। इसमें अभी और वृद्धि की संभावना है। 18-19 आयु वर्ग के मतदाताओं के कुल 15.57 लाख नाम जोड़े गए जो कुल जोड़े गए नामों का 27.29 प्रतिशत है। निर्वाचक नामावली में वर्तमान में 18-19 आयु वर्ग के कुल मतदाताओं की संख्या 20.41 लाख है। युवाओं में जागरूकता लाकर इसको भी और बढ़ाने का प्रयास किया जायेगा। मतदाता सूची की शुद्धता सुनिश्चित करने के संदर्भ में इस पुनरीक्षण अवधि में कुल 31.19 लाख मतदाताओं के नाम विभिन्न श्रेणियों के विलोपित किये गये हैं। जिसमें से आयोग के निर्देशन में विलोपन संबंधी कार्यवाहियों के परिणामस्वरूप 10.50 लाख मृतक श्रेणी, 14.14 लाख शिफ्टेड श्रेणी तथा 6.21 लाख रिपीटेड श्रेणी में विलोपित किए गए।
इसी प्रकार मतदाता सूची में विद्यमान विभिन्न श्रेणी की त्रुटियों में फार्म-08 के माध्यम से 7.19 लाख संशोधन संबंधी कार्यवाही की गई, जिसमें से 62,285 मतदाताओं ने स्थान परिवर्तन किया। उक्त के अतिरिक्त पूर्व में चिन्हित मतदाताओं को जोड़ते हुए वर्तमान में ईआरओ नेट पर कुल 10.50 लाख दिव्यांग मतदाता चिन्हित हैं।
अंतिम प्रकाशित मतदाता सूची समस्त मतदेय स्थलों पर एक सप्ताह तक जन-सामान्य के लिए प्रदर्शित की जाएगी। उक्त के अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी की वेबसाइट पर भी मतदाता सूची उपलब्ध होगी जिसके माध्यम से मतदाता अपना नाम देख सकते हैं तथा टोल फ्री नं0 1950 पर फोन करके तथा वोटर हेल्प लाइन एप के माध्यम से भी अपने नाम की जानकारी कर सकते हैं। साथ ही अपने बी0एल0ओ0 से सम्पर्क करके भी अपना नाम देख सकते हैं। इस परिप्रेक्ष्य में नव पंजीकृत एवं पूर्व से पंजीकृत सभी मतदाताओं से अपील की जाती है कि वे अद्यतन मतदाता सूची में अपना नाम अवश्य चेक कर लें।
इस बात के पूर्ण प्रयास किये गये हैं कि कोई भी अर्ह मतदाता छूटने न पाये तथापि यदि किसी मतदाता का नाम किसी कारण से अद्यतन प्रकाशित मतदाता सूची में नही है तो वह अपना नाम ऑनलाइन/ऑफलाइन माध्यम यथा-बूथ लेवल अधिकारी, निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के कार्यालय से, मतदाता पंजीकरण केन्द्र एवं ीजजचेरूध्ध्अवजमतचवतजंसण्मबपण्हवअण्पद या ीजजचेरूध्ध्अवजमतेण्मबपण्हवअण्पद या अवजमत ीमसचसपदम ंचच इत्यादि से जुड़वा सकते हैं तथा अपना नाम चेक भी कर सकते हैं।

मैं लोगों से पुनः अपील करना चाहता हूंॅ कि आज प्रकाशित मतदाता सूची में अपना नाम अवश्य जाँच लें और तद्नुसार आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित कर लें। उक्त के अतिरिक्त दिनाँक 01 अप्रैल, 01 जुलाई व 01 अक्टूबर को अर्ह होने वाले मतदाता अपना नाम मतदाता सूची में शामिल कराने हेतु फार्म-6 भर सकते हैं।
हम सभी राजनैतिक दलों एवं उनके द्वारा नियुक्त बूथ लेवल एजेन्ट्स का धन्यवाद देते हैं, जिनके अथक सहयोग से निर्वाचक नामावली को इस रूप मे आज प्रकाशित किया जा रहा है। उक्त के अतिरिक्त प्रदेश के समस्त 1,62,012 बूथ लेवल अधिकारियों, सभी पदाभिहित अधिकारियों, सुपरवाइजर्स, सहायक निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों, निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारियों तथा जिला निर्वाचन अधिकारियों सहित पूरी टीम को धन्यवाद देते हैं, जिनके अथक परिश्रम से मतदाता सूची शुद्ध एवं समावेशी प्रकाशित की गयी।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी मतदाताओं से अपील की है कि अपना नाम, पता, बूथ एवं फोटो मतदाता सूची में जरूर चेक कर लें, कोई अर्ह मतदाता छूटने न पाए। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा चुनाव कार्यक्रम घोषित होने पर मतदाताओं के नाम कटने बंद हो जाते हैं, लेकिन निर्वाचन के लास्ट डे आफ नामिनेशन तक अर्ह मतदाताओं के नाम जोड़े जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण से जुड़े सभी अधिकारियों ने मतदाता सूची को त्रुटि रहित बनाने में बहुत मेहनत की है। अभी तक प्राप्त सभी प्रकार की शिकायतों का समाधान कर लिया गया है।
उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार राष्ट्रीय मतदाता दिवस के दिन 25 जनवरी, से मतदाताओं को ईवीएम और वीवीपैट की प्रक्रिया से परिचित कराने तथा उन्हें जागरूक करने के लिए प्रदेश भर में 246 मोबाइल प्रदर्शनी वैन चलायी जायेंगी। अभी 10 जनवरी से प्रत्येक जिला एवं तहसील मुख्यालयों पर स्थापित ईवीएम प्रदर्शन केन्द्रों में 1.83 लाख मतदाताओं ने ईवीएम संबंधी जानकारी ली और 1.86 लाख मतदाताओं ने ईवीएम में मॉकपोल के दौरान वोट डालने की प्रक्रिया देखी।

 

.

About ATN-Editor

Check Also

लोकसभा सामान्य निर्वाचन-2024 में 70 प्रतिशत से अधिक मतदान कराये जाने का प्रयास किया जाय-मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा

नागरिकों को जागरूक करने के लिए स्वीप गतिविधियों को तेजी से संचालित करें सभी विभाग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *