Breaking News

सघन मिशन इंद्रधनुष (आई0एम0आई0) 5.0 के शुभारम्भ पर मीडिया कार्यशाला

 

प्रदेश के समस्त जनपदों में नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के अन्तर्गत 0 से 5 वर्ष तक के छूटे हुए बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को समस्त वंचित/आवश्यक खुराकों से आच्छादित कर पूर्ण रूप से प्रतिरक्षित करने के लिए सघन मिशन इन्द्रधनुष-5.0 का 07 अगस्त से शुभारंभ

दिसंबर, 2023 तक मीजिल्स रूबेला के उन्मूलन हेतु स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह प्रतिबद्ध

मिशन इन्द्रधनुष-5.0 में प्रत्येक बच्चे को जीवन रक्षक टीके मिलंे, इसके लिए 5 वर्ष की आयु तक के टीकाकरण से वंचित बच्चों को समस्त ड्यू खुराकें देनें और लक्षित गर्भवती महिलाओं को लक्ष्य में शामिल किया गया है। यें बातें उत्तर प्रदेश में 7 अगस्त, 2023 को लॉन्च करने की मीडिया कार्यशाला को संमबोधित करते हुए मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डॉ0 पिंकी जोवल ने चारबाग के निजी होटल में कही।
उन्होेंने कहा कि यह अभियान राज्य के सभी 75 जिलों में तीन चरणों (7-12 अगस्त), (11-16 सितंबर) और (9-14 अक्टूबर) 2023 में आयोजित किया जाएगा

 

इस अभियान के तहत टीकाकरण कवरेज के प्रतिशत को बढ़ाने के लिए 0-5 वर्ष तक की आयु के बच्चों के लिए सभी छः कार्य दिवसों पर टीकाकरण किया जाएगा।

कार्यशाला में प्रभारी महानिदेशक परिवार कल्याण डा0 शालिनी गुप्ता, डा0 संदीपा श्रीवास्तव, अपर निदेशक, यू0आई0पी0, राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ0 अजय कुमार गुप्ता, और महाप्रबंधक नियमित टीकाकरण, डॉ0 मनोज कुमार शुक्ल ने प्रतिभाग किया।

डॉ0 पिंकी जोवल ने कहा कि मिजिल्स रूबेला उन्मूलन के दृष्टिगत विशेष रूप से एम0आर0-1 एवं 2 के साथ ही पी0सी0वी0,ं एफ0आई0पी0वी0-3 डी0पी0टी0-1 बूस्टर एवं डी0पी0टी0-5 वर्ष एवं टी0डी0 10/16 खुराक के कवरेज में सुधार पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। इस पहल का लक्ष्य दिसंबर 2023 तक देश के खसरा रूबेला उन्मूलन के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जिले में खसरा और रूबेला युक्त वैक्सीन (एम0आर0सी0वी0) की दो खुराक का 95 प्रतिशत टीकाकरण कवरेज प्राप्त करना है। शहरी क्षेत्रों में टीकाकरण के स्तर में कमी को पूरा करने के लिए सभी जिला चिकित्सालयों, सरकारी शहरी सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर दैनिक टीकाकरण की सुविधा भी शुरू की गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिए जा रहे निःशुल्क टीकाकरण से किसी भी परिवार में मात्र एक बच्चे के लिए टीकाकरण कराने पर औसतन 15 से 20 हजार रूपये की आर्थिक बचत के साथ ही बच्चों के स्वास्थ्य, पोषण एवं उनकी उत्पादकता में सुधार होता है। उत्तर प्रदेश सरकार उन छूटे हुए या आंशिक रूप से प्रतिरक्षित बच्चों का टीकाकरण करने के लिए निरंतर प्रयास कर रहा है, जो कोविड महामारी के दौरान टीकाकरण से चूक गए थे। छूटे हुए बच्चों को कवर करने के लिए जनवरी, फरवरी और मार्च 2023 में राज्य भर में विशेष टीकाकरण अभियान आयोजित किए गए।
आई0एम0आई0-5.0 अभियान हेतु कार्य योजना के संबंध में राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी डा0 अजय कुमार गुप्ता ने कहा कि बुधवार एवं शनिवार को नियमित टीकाकरण सत्र निर्धारित माइक्रोप्लान के अनुसार यथावत् संचालित होंगे। दिनांक 07-12 अगस्त, 11-16 सितम्बर एवं 9-14 अक्टूबर, 2023 के मध्य सप्ताह के शेष दिवसों में अप्रतिरक्षित बच्चों की सूची के आधार पर आई0एम0आई0-5.0 अभियान के सत्र आयोजित किए जाएंगे। जनपदों को यह भी सुनिश्चित करने को निर्देशित किया गया है कि अभियान के दौरान स्थानीय अवकाश अथवा किसी अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रम के संचालन के फलस्वरूप टीकाकरण कार्यक्रम बाधित होने की दशा में अग्रेतर दिवसों पर टीकाकरण सत्रों का आयोजन कर आई0एम0आई0-5.0 के समस्त नियोजित सत्रों का सम्पादन सुनिश्चित किया जाएगा। इस अभियान की तैयारियों की समीक्षा राष्ट्रीय स्तर के पर्यवेक्षकों द्वारा की जा चुकी है। 31 उच्च प्राथमिकता वाले जनपदों में टीकाकरण की प्रगति की जांच के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किये गए हैं। प्रदेश के 10 जनपदों में राष्ट्रीय स्तर से पर्यवेक्षक आकर टीकाकरण की स्थिति परखेंगे. टीकाकरण की दर बढाने के लिए जिलाधिकारियों, मुख्य चिकित्सा अधिकारियों, धर्मगुरुओं, फिल्मी सितारों और समाज में प्रभावशाली लोगों द्वारा अपील जारी की गयी हैं। टीकाकरण के प्रति उदासीनता दिखाने वाले वाले लगभग 01 लाख परिवारों को यूनिसेफ, कोर, आशाओं और धर्मगुरुओं के सहयोग से प्रेरित कर टीकाकरण के इस महा-अभियान में शामिल करने का प्रयास किया जा रहा है।
आई0एम0आई0-5.0 हेतु राज्य में 1,305 कोल्ड चेन प्वाइंट पर पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी के समन्वय से अभियान की तैयारियों की समीक्षा हेतु जिलाधिकारी की अध्यक्षता में डी0टी0एफ0 का आयोजन, जनपद/ब्लाक स्तरीय संवेदीकरण कार्यशालाएं, आशाओं व लिंक वर्कर द्वारा गर्भवती महिलाओं एवं 5 वर्ष से कम आयु के बच्चों का निर्धारित प्रारूप एवं ई-कवच पर सर्वे अपडेशन, शहरी प्लानिंग यूनिट्स एवं ब्लाक प्रभारी चिकित्साधिकारी द्वारा आई0एम0आई0 5.0 अभियान के सत्रों हेतु माइक्रोप्लांिनग का कार्य किया जा चुका है। प्रशिक्षित ए0एन0एम0 द्वारा आई0एम0आई0-5.0 के दौरान पूरे उत्तर प्रदेश में 1.25 लाख से अधिक टीकाकरण सत्रों की योजना बनाई गई है। अभियान का लक्ष्य 12.74 लाख बकाया लाभार्थियों को लक्षित करना है।
अधिक जानकारी के लिए संपर्क करेंः
1. डॉ0 अजय गुप्ता (राज्य प्रतिरक्षण अधिकारी, उत्तर प्रदेश) 8004387950
2. डॉ0 मनोज कुमार शुक्ला (महाप्रबंधक नियमित टीकाकरण, उत्तर प्रदेश) 9415004437 टोल फ्री नम्बर- 104

 

About ATN-Editor

Check Also

सहारा हास्पिटल के प्लास्टिक सर्जन डॉक्टरों की टीम नित नए मुकाम हासिल कर निरंतर लोगों को सफल इलाज प्रदान कर रही है- अनिल विक्रम

सीतापुर के निवासी 30 वर्षीय संदीप नाम के मरीज की किचन में आटा मशीन में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *