Breaking News

एमएसएमई देश के 12 करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार देता है भानु प्रताप सिंह वर्मा

केवीआईसी के वितरण कार्यक्रम के माध्यम से, पारंपरिक कारीगरों को उनकी आय और रोजगार बढ़ाने के लिए आधुनिक मशीनें और उपकरण बांटे गये

एमएसएमई क्षेत्र भारत के सकल घरेलू उत्पाद में एक तिहाई योगदान देता है और देश के 12 करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार प्रदान करता है। खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग ने ग्रामीण भारत में रोजगार सृजन के क्षेत्र में पिछले नौ वर्षों में ऐतिहासिक काम किया है। यें बातें उत्तर प्रदेश के अयोध्या में 340 लाभार्थियों को इलेक्ट्रिक पॉटर व्हील, पैडल संचालित अगरबत्ती मशीनें, मोटर चालित अगरबत्ती मशीनें और टर्नवुड क्राफ्ट मशीनों का वितरण करते हुए केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा ने कही।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केवीआईसी के अध्यक्ष मनोज कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्रेरणा से खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग सभी गांवों में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में पिछले वित्त वर्ष में इतिहास रचते हुए खादी और ग्रामोद्योग उत्पादों का कारोबार 1.34 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया। उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में केवीआईसी ग्रामोद्योग विकास योजना के अंतर्गत भारतीय पारंपरिक उद्योगों के श्रमिकों को उपकरण और मशीनरी का वितरित किया जा रहा है, पारंपरिक उद्योगों के श्रमिकों की आय में वृद्धि करने से उनके जीवन स्तर में व्यापक सुधार होगा।

मनोज कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व देश एक मजबूत, आत्मनिर्भर राष्ट्र बन रहा है और यह विश्व के लिए एक प्रेरणा है। उन्होंने कहा कि हमें “मेक इन इंडिया” के साथ-साथ “मेक फॉर वर्ल्ड” के मंत्र के साथ आगे बढ़ना होगा, तभी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का “लोकल टू ग्लोबल” विजन साकार होगा।

इस अवसर पर अयोध्या के सांसद, लल्लू सिंह ने केवीआईसी द्वारा लागू ग्राम विकास योजना की सराहना करते हुए कहा कि इन योजनाओं से जुड़कर हमारे पारंपरिक कारीगर स्वरोजगार के क्षेत्र में आगे बढ़ सकते हैं। अयोध्या के महापौर, गिरीशपति त्रिपाठी ने लोगों से खादी एवं ग्रामोद्योग द्वारा उत्पादित स्वदेशी उत्पादों का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करने की अपील की जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक लोगों को रोजगार प्राप्त हो सके।

राज्य कार्यालय, केवीआईसी, लखनऊ द्वारा ग्राम विकास योजना के अंतर्गत ग्राम स्वावलंबी विद्यालय, रानीवा में आयोजित इस वितरण कार्यक्रम का आयोजन मनोज कुमार, अध्यक्ष, खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग, लल्लू सिंह, सांसद, अयोध्या और लखनऊ और गोरखपुर मंडल कार्यालय के लाभार्थियों की उपस्थित में किया गया। अयोध्या के महापौर गिरीशपति त्रिपाठी और केवीआईसी (उत्तरी क्षेत्र) के सदस्य नागेंद्र रघुवंशी ने भी इस वितरण कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज की।

 

About ATN-Editor

Check Also

भारत के सूक्ष्म, लघु और मध्यम श्रेणी के उद्योगों को निर्यात के लिए तैयार डीजीएफटी और डीएचएल के बीच एमओयू

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय का विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) अपनी जिला निर्यात केंद्र नामक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *