Breaking News

सिडबी और यूपीनेडा के बीच दो समझौतों से बदलेगा सौर ऊर्जा परिदृश्य-अनुपम शुक्ल

हरित परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए संवर्द्धन अभियान

अयोध्या में आवासीय इकाइयों के सौर ऊर्जाकरण के लिए संरचित व्यवस्था और जैव-ऊर्जा और नवीकरणीय परियोजना वित्तपोषण के संबंध में सिडबी और यूपीनेडा के बीच दो समझौता ज्ञापन निष्पादित हुए। ये बातें सिडबी लखनऊ कार्यालय द्वारा आयोजित सौर / हरित परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए संवर्द्धन अभियान के आयोजन पर उत्तर प्रदेष की राजधानी में एक निजी होटल में कही गयी।

इस मौके मुख्य महाप्रबंधक डॉ. आर.के. सिंह ने बताया कि इस आयोजन उद्देश्य सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमोंको सौर/ हरित परियोजनाओं की अद्यतन जानकारी और सिडबी के प्रत्यक्ष ऋण उत्पादों की डिजिटल और नवीनतम पहलों के बारे में मिले और एमएसएमई पारितंत्र में सिडबी द्वारा की जा रही विभिन्न डिजिटल और नवीनतम पहलकदमियों के बारे में जागरूकता का प्रसार हो।

डॉ. आर.के. सिंह, मुख्य महाप्रबंधक, सिडबी ने बताया कि 2500 एमएसएमई में सौर-छतों की स्थापना, भारत सरकार के ईवी30/30 मिशन के अनुरूपईवी बाजार का समर्थन करना, ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन में कमी लाने में योगदान देने वाले एमएसएमई क्षेत्र में ऊर्जा दक्षता निवेश जुटाना, अपशिष्ट को धन में परिवर्तित करने के लिए प्रौद्योगिकी हस्तक्षेप का समर्थन करना और प्रौद्योगिकी बासकेट के माध्यम से प्रकृति का पोषण करना, नवीन प्रौद्योगिकियों को बढ़ावा देना। उन्होंने उत्तर प्रदेश राज्य में सिडबी की पारितंत्रपहल पर समन्वय में सिडबी पीएमयू की भूमिका की भी सराहना की।

सिडबी के महाप्रबंधक मनीष सिन्हा ने एमएसएमई को ऊर्जा कुशल बनाने और हरित समाधान अपनाने की आवश्यकता पर जोर दिया। सिडबी ने ग्राहक अनुभव को बढ़ाने और प्रतिवर्तन समय में सुधार करने के लिए अपनी प्रमुख प्राथमिकताओं में से एक के रूप में अपने प्रत्यक्ष ऋण संचालन के डिजिटलीकरण और सरलीकरण के लिए कई उपाय किए हैं। उत्तर प्रदेश में एमएसएमई के लिए यूपीनेडा के साथ किए गए एमओयू के लाभों पर भी प्रकाश डाला।

सिडबी के सहायक महाप्रबंधक विकास बालानी ने कहा कि सिडबी स्थानीय एमएसएमई ग्राहकों के प्रति पूर्णतः समर्पित है और सभी उद्यमियों को इसका लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने सिडबी की विभिन्न हरित और प्रत्यक्ष सहायता योजनाओं पर एक प्रस्तुति भी दी और अपनी ऋण प्रक्रिया केडिजिटलीकरण में बैंक द्वारा की गई पहलों पर प्रकाश डाला।

भारतीय उद्योग संघ (आईआईए), लघु उद्योग भारती, पीएचडीसीसी, एसोसिएशन ऑफ इंडियन मैन्युफैक्चरर्स (एआईएम) लखनऊ चौप्टर अध्यक्ष मोहित सूरी एआईएम लखनऊ चौप्टर महासचिव मो. सऊद वरिष्ठ उपाध्यक्ष वीरेंद्र के शर्मा एआईएम लखनऊ चौप्टर अंकुर पाराशर इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के ईवी अध्यक्ष तारिक नकवी साहित भारी संख्या मंें एमएसएमई के साझोदार मौजूद रहे।

 

About ATN-Editor

Check Also

सहारा हास्पिटल के प्लास्टिक सर्जन डॉक्टरों की टीम नित नए मुकाम हासिल कर निरंतर लोगों को सफल इलाज प्रदान कर रही है- अनिल विक्रम

सीतापुर के निवासी 30 वर्षीय संदीप नाम के मरीज की किचन में आटा मशीन में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *