Breaking News

मेरठ हयात नर्सिंग होम मे महिला की मौत परिजनों ने स्टॉफ पर लगा लापरवाही का आरोप

मेरठ । थाना नौचंदी क्षेत्र में सेक्टर 12 शास्त्री नगर स्थित हयात नर्सिंग होम में महिला की मौत पर हुआ हंगामा करीब सुबह 5 बजे प्रार्थी अपनी पत्नि सायबा को लेकर डिलीवरी के लिये हयात नर्सिंग होम स्थित सैक्टर-12 निकट आर०टी०ओ० ऑफिस, शास्त्री नगर थाना नौचन्दी मेरठ पर लेकर गया था क्योंकि प्रार्थी की पत्नि का इलाज पहले से ही डा० बुशरा असलम से चल रहा था। अस्पताल में ले जाकर भर्ती कराने के बाद काफी समय तक कोई डाक्टर चौकअप करने नहीं आया और डॉक्टर को स्टाफ वाले बता रहे थे कि स्टाफ में मौजूद लोगों ने डा० बुशरा असलम से बात करके सायबा को भर्ती किया। कुछ देर बाद डा० बुशरा असलम ने प्रार्थी से आकर कहा कि बच्चे का पता नही चल रहा है इसलिये सिजेरियन डिलीवरी करनी पड़ेगी तथा प्रार्थी से अंकन 5000/- रूपये एडवांस जमा कराकर सायबा को ऑपरेशन के लिये ले गये थोडी देर के बाद प्रार्थी को ऑपरेशन से बच्चा होने की सूचना दी, उसके बाद सायबा को रूम नं० 207 में शिफ्ट कर दिया। कुछ देर के बाद ही सायबा की तबीयत बिगडने लगी और उसका बी०पी० काफी बढ गया तथा उसे उल्टिया, खांसी व बुखार भी होने लगा जिस पर प्रार्थी व अन्य तीमारदारों ने वहां मौजूद अन्य सभी स्टाफ सभी तीमारदारों ने डा० बुशरा असलम को बुलाकर सायबा को दिखाने के लिये आग्रह किया जिस पर उपरोक्त सभी स्टाफ के लोगों द्वारा लगातार यह कहा जाता रहा कि सिजेरियन डिलीवरी में यह सब होता रहता है, कुछ देर में ठीक हो जायेगी तथा डा० बुशरा असलम को चौकअप के लिये नही बुलाया तथा काफी समय बीत जाने पर भी डा० बुशरा असलम मरीज को देखने नीचे नहीं आयी सायबा की हालत और भी अधिक बिगड़ती चली गयी तथा उपरोक्त सभी 1 स्टाफ स्वयं इलाज करता रहा तथा जब सायबा की हालत उपरोक्त लोगों के वश से बाहर हो गयी तब उपरोक्त स्टाफ के लोगों ने डा० बुशरा असलम व मैनेजर रईस को बुलाया और उपरोक्त डा० बुशरा असलम, मैनेजर रईस व 06-07 अन्य स्टाफ के व्यक्ति एक राय मशवरा होकर सायबा को किसी दूसरे कमरे में ले गये और लगभग आधा घण्टे तक कमरे में रखे रखा और सबको यही बताते रहे कि ठीक हो जायेगी, घबराने की जरूरत नही है समय करीब दोपहर 1230 बजे डा० बुशरा असलम व अन्य सभी लोगों ने कह दिया कि अब हमारे बस की बात नहीं है इसे न्यूटिमा या आनन्द में ले जाना पडेगा। जिस पर प्रार्थी व अन्य तीमारदारों ने इसकी सहमति दी और उपरोक्त लोगों ने स्वयं फोन करके एम्बूलेन्स बुलाई परन्तु एम्बूलेन्स वाले ने देखकर कहा कि इसमें कुछ नहीं है इसे घर ले जाओ और ले जाने से साफ मना करके वहां से चला गया। इस प्रकार उपरोक्त सभी लोगों ने घोर लापरवाही करते हुए इलाज में कमी व लापरवाही करके समय पर डा० बुशरा असलम द्वारा इलाज न करके प्रार्थी की पत्नि सायबा की हत्या कर दी है। इस हत्या के लिये डा० बुशरा असलम, मैनेजर रईस व वहां मौजूद समस्त स्टाफ जिम्मेदार है। इस मामलें में डा बुशना ने फोन नही उठाया है जबकि इस मामलें में मेरठ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी अखिलेश मोहन ने बताया कि इस मामलें में प्रथम दृश्या पोस्टमार्टम कराया जा रहा है उसकी रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जायेंगी।

 

About ATN-Editor

Check Also

मेरठ थाना भावनपुर क्षेत्र में भांजी के अफेयर के शक में मामा ने भांजी की गला दबाकर की हत्या

मेरठ थाना भावनपुर क्षेत्र में भांजी के अफेयर के शक में मामा ने भांजी की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *