Breaking News

आम चुनाव 2024 में पहले चरण में 66.14 प्रतिशत और दूसरे चरण में 66.71 प्रतिशत मतदान


भारत निर्वाचन आयोग ने पहले चरण और दूसरे चरण के लिए मतदाताओं का मतदान डेटा प्रकाशित किया

Posted On: 30 APR 2024 8:01PM by PIB Delhi

आम चुनाव 2024 में, पहले चरण में 102 संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के लिए 66.14 प्रतिशत और दूसरे चरण में 88 संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के लिए 66.71 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। दोनों चरणों के लिए महिला-पुरुष मतदाताओं द्वारा मतदान के आंकड़े नीचे दिए गए हैं:

 

चरणपुरुष मतदाताओं द्वारा मतदानमहिला मतदाताओं द्वारा मतदानथर्ड जेंडर मतदाताओं द्वारा मतदानकुल मतदान
चरण 166.22% 66.07%31.32%66.14%
चरण 266.99%66.42%23.86%66.71%

 

2. चरण-1 के लिए राज्यवार और संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के अनुसार मतदाताओं द्वारा मतदान डेटा तालिका 1 और 2 में दिया गया है और चरण 2 के लिए क्रमशः तालिका 3 और 4 में दिया गया है। खाली सेल इस बात का संकेत है कि उस श्रेणी में कोई पंजीकृत मतदाता नहीं है। संसदीय निर्वाचन क्षेत्र और विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के अनुसार डेटा भी नियमित रूप से वोटर टर्न आउट ऐप पर अपडेट किया जाता है, जैसा कि रिटर्निंग अधिकारियों द्वारा फॉर्म 17 सी के माध्यम से आईटी सिस्टम में अपडेट किया जाता है। फॉर्म 17 सी की प्रति सभी उम्मीदवारों को उनके मतदान एजेंटों के माध्यम से निर्वाचन क्षेत्र के प्रत्येक मतदान केंद्र के लिए भी प्रदान की जाती है। फॉर्म 17 सी का वास्तविक डेटा मान्य होगा, जो पहले से ही उम्मीदवारों के साथ साझा किया गया है। मतदान संबंधी अंतिम आंकड़े केवल डाक मतपत्रों की गिनती और इसे कुल मतों की गिनती में जोड़ने के बाद ही उपलब्ध होंगे। डाक मतपत्रों में रक्षा कर्मी मतदाताओं, अनुपस्थित मतदाताओं (85 वर्ष से अधिक उम्र, दिव्यांग, आवश्यक सेवाएं आदि) और चुनाव ड्यूटी पर मतदाताओं को दिए गए डाक मतपत्र शामिल हैं। वैधानिक प्रावधानों के अनुसार, प्राप्त ऐसे डाक मतपत्रों का दैनिक लेखा सभी उम्मीदवारों को दिया जाता है।

3. इसके अलावा, मीडियाकर्मियों सहित विभिन्न हितधारकों के त्वरित संदर्भ के लिए, आम चुनाव 2019 के लिए राज्य और संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के अनुसार कुल मिलाकर मतदाताओं द्वारा मतदान डेटा भी क्रमशः तालिका 5 और 6 में दिया गया है।

तालिकाएं देखने के लिए क्लिक करें

  • Share on linkedin

About ATN-Editor

Check Also

राजनीतिक दलों और उनके प्रतिनिधियों को सोशल मीडिया मंचों के जिम्मेदारी के साथ और नैतिक उपयोग के निर्देश

गलत सूचना और कृत्रिम सामग्री से निपटने के लिए मौजूदा कानूनी ढांचे को विशेष रूप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *