Breaking News

विभेदकारी, नस्ल विरोधी नियमों के खिलाफ रक्षामंत्री एवं सांसद लखनऊ राजनाथ सिंह को सौपा ज्ञापन

यह हमारा सौभाग्य है कि आप जैसा युगपुरुष हमारे लखनऊ शहर का प्रतिनिधित्व करते है। किसी भी भारतीय नागरिक के स्वाभिमान को आहत करने वाली एक घटना की ओर इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन लखनऊ पूर्व चेयरमैन प्रशान्त भाटिया आपका ध्यानाकर्षण कराना चाहते हैं। यह घटना आपके संसदीय क्षेत्र लखनऊ में स्थित मुख्यमंत्री आवास के समक्ष स्थित लखनऊ गोल्फ क्लब की है। इसका संचालन गैरसरकारी संस्था द्वारा किया जा रहा हैं। यह भूमि इस संस्था को कालांतर में शासन द्वारा ही प्रदान की गई है। हम सबको गर्व है कि इसका उपयोग गोल्फ खिलाड़ियों के लिए किया जाता है। तद्यपि दुखद पहलू यह है कि यहां अंग्रेजो द्वारा बनाए गए विभेदकारी, जिसे हम नस्ल विरोधी नियम भी कह सकते हैं, अब तक लागू है। यहां अंग्रेजो द्वारा पूर्व में निर्धारित की गई वेशभूषा के बिना कोई प्रवेश नहीं पा सकता।
मान्यवर प्रत्येक खेल की एक वेशभूषा होती है। क्रिकेट, हॉकी, वालीवाल, फुटबाल, टेनिस, कबड्डी या अन्य किसी भी खेल का अपना एक ड्रेस कोड होता है, किंतु ऐसे स्थलों पर गए दर्शकों अथवा अतिथियों के लिए यह आवश्यक नहीं कि उन्हें भी खिलाड़ियों के कपड़े पहनने पड़े।
मान्यवर दिनाँक 25 जून 2023 को प्रातः 9 बजे उद्योग क्षेत्र की प्रतिष्ठित संस्था इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन की एक बैठक लखनऊ गोल्फ क्लब में आयोजित थी, जिसमें इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन लखनऊ के पूर्व चेयरमैन होने के कारण आमंत्रित होने के नाते से मैं पहुंचा था परंतु गोल्फ क्लब के मैनेजमेंट द्वारा मेरे पहने हुए भारतीय परिधान के साथ बैठक में मौजूद होने पर आपत्ति जताई गई और बताया गया कि भारतीय परिधानों को यहां पर पहनकर आना सख्त मना है। बार बार अनुरोध करने पर भी हठ किया गया कि परिधानों को बदल कर आए, जिसे मैंने भारतीय स्वाभिमान का अपमान माना और भारतीय परिधान में ही बैठक में सम्मिलित हुआ, परंतु यह सुनकर मुझे बहुत आघात लगा कि देश के सबसे बड़े प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सरकारी भूमि पर चल रहे क्लब में भारतीय परिधान प्रतिबंधित है और हमको इतिहास की किताबो में पढ़ाएं गए स्वतंत्रता आंदोलन की याद आ गयी, जब अंग्रेज भारतीयों की वेशभूषा देखकर उन्हें हीन भावना से देखते थे। आजादी के 75 वर्षों बाद भी माननीय मुख्यमंत्री आवास के निकट एक प्रतिष्ठित क्लब में भारतीय परिधानों पर प्रतिबंध आश्चर्यचकित करता है।
मान्यवर आपको जानकर आश्चर्य होगा कि आपके संसदीय क्षेत्र लखनऊ में तीन ऐसे सार्वजनिक स्थान है जहां समाज जीवन के किसी भी क्षेत्र में काम करने वाले श्रेष्ठ व्यक्ति का भी भारतीय परिधान में प्रवेश वर्जित है।

लखनऊ में गोल्फ क्लब के अतिरिक्त जिमखाना क्लब एवं रक्षा मंत्रालय के परिक्षेत्र में चल रहे एम०बी० क्लब में भी भारतीय परिधानों में प्रवेश प्रतिबंधित है। मुझे भी जब बताया गया तो मुझे विश्वास ही नहीं हुआ, मैं आश्चर्यचकित रह गया।
हमें गर्व है कि आप विश्व भर में भारतीय परिधान में भारतीयता को, भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं। परंतु अपने ही संसदीय क्षेत्र में ऐसा हो रहा है यह आपको भी ज्ञात नहीं होगा।
मान्यवर जी, इस प्रकरण के पश्चात मुझे भारी मात्रा में विभिन्न संघटनों सहित सामान्य जन ने भी इस नियम के विरुद्ध अपनी भावनाओं से अवगत कराया।

अतः आपसे सादर निवेदन करते हैं कि उपरोक्त प्रकरण के संदर्भ में आपके संसदीय क्षेत्र लखनऊ स्थिति उपरोक्त क्लबों पर भारतीय परिधान को उचित सम्मान दिलाने हेतु यथोचित कार्यवाही यथाशीघ्र करने के निर्देश देने के साथ ही इस संदर्भ में केंद्र सरकार से उचित कानून पारित कराने हेतु अपनी भूमिका निभाने की कृपा करें, ताकि देश भर में भारत और भारतीयता का अपमान करने वाले छद्म अंग्रेजियत पसंद लोगों को सही दिशा मिल सकें।

ण्………..

About ATN-Editor

Check Also

भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव 9 अप्रैल से 

      लखनऊ , 7 अप्रैल 2024। तुलसी शोध संस्थान उत्तर प्रदेश के अंतर्गत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *