Breaking News

बाबूजी जन सेवक थे गरीबों की आवाज बनकर क्षेत्र से लेकर के दिल्ली तक हमेशा पहुंचाने का काम किये-फतेह बहादुर सिंह

पवन पाण्डेय

राम जन्मभूमि का ताला खुलवाने में भूमिका रही और शुरुआती दौर से ही राम जन्मभूमि मुद्दे को लेकर के हमेशा चिंतित रहते थे और यही वजह है कि अपने मुख्यमंत्री कार्यकाल में उन्होंने मंदिर का ताला खुलवाने का काम किया था। यें बातें उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री केंद्र सरकार के संचार मंत्री स्वर्गीय वीर बहादुर सिंह जन्म दिवस पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर करते हुए पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं कैंपियरगंज गोरखपुर के विधायक फतेह बहादुर सिंह ने अशोक मार्ग पर कही।

उन्होंने कहा कि बाबूजी जन सेवक थे गरीबों की आवाज बनकर क्षेत्र से लेकर के दिल्ली तक हमेशा पहुंचपने का काम किये। आज भी वीर बहादुर सिंह के दिलों में बसते हैं यही वजह है उनके नाम के आह्वान पर हजारों हजारों की संख्या में लोग आकर मौजूद हो जाते हैं ।
गोरखपुर जिला पंचायत की जिला पंचायत अध्यक्ष साधना सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि बाबूजी महान व्यक्तित्व के स्वामी से आज जो कुछ भी है वह उनकी प्रेरणा के बदौलत है और उनकी प्रेरणा की देन है कि गोरखपुर सही उत्तर प्रदेश विकास के प्रति लगातार अग्रसर है उन्होंने कहा कि स्वर्गीय सिंह जन-जन के लोकप्रिय रहे हैं यही वजह है कि आज भी उनका नाम लेकर के लोगों की आंखें नम हो जाती है
उत्तर प्रदेश कोऑपरेटिव के सभापति एवं एवं स्वर्गीय सिंह के पुत्र जितेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि बाबूजी के दिखाए हुए रास्ते पर चलकर हम लोग आज राजनीति कर रहे हैं जो एक सफल राजनीति के रूप में पूरा परिवार निरंतर आगे बढ़ रहा है गरीबों की सेवा करना योर क्षेत्र की जनता को अपने परिवार की तरह समझना यह बाबूजी की सोच थी आज इसी को हम सभी परिवार के लोग इसी दर्शन से प्रेरित होकर काम करते हैं इस अवसर पर स्वर्गीय सिंह के कनिष्ठ पुत्र विक्रम बहादुर सिंह ने भी अपने पिता को याद करते हुए कहा वह विकास पुरुष थे ऐसा व्यक्तित्व युग में कभी-कभी आते हैं।
इस अवसर पर पूर्व विधायक परमात्मा सिंह ब्लॉक प्रमुख कंपियरगंज अश्वनी जायसवाल राजेश सिंह पी आर वो शमशेर बहादुर सिंह राधे मोहन श्रीवास्तव बंशीधर जायसवाल विष्णु सिंह वरिष्ठ पत्रकार राकेश कुमार सिंह राजा सिंह ननकू सिंह रामसेवक सिंह जितेंद्र कुमार सिंह गणेश दत्त त्रिपाठी आज सैकड़ो लोगों ने वीर बहादुर सिंह जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

About ATN-Editor

Check Also

भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव 9 अप्रैल से 

      लखनऊ , 7 अप्रैल 2024। तुलसी शोध संस्थान उत्तर प्रदेश के अंतर्गत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *