Breaking News

आजीविका संवर्धन, कौशल अधिग्रहण और ज्ञान जागरूकता पहल के लिए इग्नू का चयन- डा मनोनमा सिंह

विश्वविद्यालय द्वारा जनमानस के शैक्षणिक उत्थान हेतु की जा रही है नवीनतम गतिविधियां इग्नू

इग्नू उच्च शिक्षा में समानता, समावेशिता, गुणवत्ता, पहुंच और सामर्थ्य के अपने मिशन को पूरा करने के लिए पिछले 38 वर्षों से अपने क्षेत्रीय केन्द्रों की सहायता से कड़ी मेहनत कर रहा है, जो कि एनईपी-2020 का भी जनादेश है। यें बातें जनमानस के शैक्षणिक उत्थान के लिए की जा रही नवीनतम गतिविधियों विषय पर संयुक्त रुप से प्रेसवार्ता के दौरान इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, क्षेत्रीय केंद्र, लखनऊ की वरिष्ठ क्षेत्रीय निदेशक
डॉ. मनोरमा सिंह एवं मनोज कुमार वर्मा, निदेशक, केंद्रीय संचार ब्यूरो, डॉ. एम. एस. यादव उपनिदेशक पी.आई.बी,एवं डॉ. कीर्ति विक्रम सिंह ने पी.आई.बी. कार्यालय के कॉन्फरेन्स हॉल में कही।

वरिष्ठ क्षेत्रीय निदेशक डॉ. मनोरमा सिंह ने बताया कि इग्नू को आजीविका संवर्धन (संकल्प) के लिए कौशल अधिग्रहण और ज्ञान जागरूकता पहल के लिए कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा एक सहायक संस्थान के रूप में चुना गया है। विश्वविद्यालय का एक्सटेंशन सेंटर जन शिक्षण संस्थाओं एवं प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्रो में खोला गया है, जिससे स्किल आधारित शिक्षा प्राप्त कर रहे अभ्यर्थियों को उच्च शिक्षा के अवसर भी मिल सकें। विश्वविद्यालय अग्निपथ योजना के लाभार्थियों के तहत अग्निवीर नामक एक विशेष कौशल आधारित स्नातक कार्यक्रम करेगा। यह कार्यक्रम रक्षा बलों (सेना, नौसेना और वायु सेवा) की सेवा के लिए कौशल और संबंधित ज्ञान को बढ़ाने के लिए स्नातक पाठ्यक्रम होंगे।

इग्नू ने भारतीय परंपरा और संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए ज्योतिष, लोकगीत और सांस्कृतिक अध्ययन, वैदिक अध्ययन, संस्कृत, हिंदी और उर्दू के साथ-साथ चित्रकला और चित्रकारी में एम.ए. सहित कई शैक्षणिक कार्यक्रम शुरू किए हैंद्य विश्वविद्यालय हमारे छात्रों को वैश्विक दृष्टिकोण प्रदान करने के लिए फ्रेंच, स्पेनिश, अरबी, फारसी, रूसी, जर्मन, जापानी और कोरियाई में भी पाठ्यक्रम उपलब्ध कराता है।

सहायक क्षेत्र निदेशक डॉ. कीर्ति विक्रम सिंह ने बताया कि भारत सरकार के विदेश मंत्रालय की ई-विद्याभारती नेटवर्क परियोजना के तहत 19 अफ्रीकी देशों के विद्यार्थियों को विभिन्न कार्यक्रम में प्रवेश प्रदान किया है। इग्नू क्षेत्रीय केंद्र, लखनऊ अफ्रीकी विद्यार्थियों को ग्रामीण विकास में परास्नातक पाठ्यक्रमों में ऑनलाइन परामर्श कक्षाएं प्रदान कर रहा है। उन्होंने बताया कि ई-ज्ञानकोष पोर्टल (एक राष्ट्रीय डिजिटल रिपोजिटरी) के माध्यम से विश्वविद्यालय ने अपने सभी कार्यक्रमों कि स्व-शिक्षण सामग्री (एसएलएम) को छात्रों के लिए उपलब्ध कराया है। ज्ञानवाणी (जीवी), एफएम शिक्षण रेडियो इग्नू, क्षेत्रीय केंद्र, लखनऊ में स्थित है, जिसके माध्यम से विद्यार्थियों के लिए विभिन्न ज्ञानवर्धक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाते हैं। विश्वविद्यालय डीटीएच बेस्ड चौनल स्वयं प्रभा के राष्ट्रीय समन्वयको में से एक है, जो विभिन्न क्षेत्रीय भाषाओं में परामर्श कक्षाएं उपलब्ध करा रहा है। इग्नू, क्षेत्रीय केंद्र हिंदी भाषा में स्नातक स्तर के पाठ्यक्रमों की परामर्श कक्षाएं उपलब्ध करा रहा है। विश्वविद्यालय में नामांकन से संबंधित अधिक जानकारी हेतु विश्वविद्यालय की वेबसाइट ूूू.पहदवन.ंब.पद पर लॉगिन किया जा सकता है।

मनोज कुमार वर्मा, निदेशक, केंद्रीय संचार ब्यूरो ने कहा कि विश्वविद्यालय के सभी पाठ्यक्रम यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त हैं और राष्ट्रीय शिक्षा नीति – 2020 के अनुसार हैं। इग्नू अपने पाठ्यक्रमों के माध्यम से विद्यार्थियों को न केवल रोजगारपरक उच्च शिक्षा प्रदान करता है, अपितु भारतीय भाषाओं कला और संस्कृति को बढ़ावा भी देता है।

उपनिदेशक डॉ. एम. एस. यादव ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति में विश्व स्तरीय उच्च शिक्षा पारिस्थितिकी तंत्र के विकास के लिए आवश्यक पांच मूलभूत स्तंभों को सूचीबद्ध किया गया है, वे छात्र केंद्रित्ता, अनुसंधान, नवाचार, संकाय, अंतरराष्ट्रीयकरण और डिजिटल शिक्षा हैं। इग्नू सभी को शिक्षा प्रदान करने के लिए इन रणनीतिक स्तंभों के आधार पर कम कर रहा है।

 

..

About ATN-Editor

Check Also

बिजनेस सिम्युलेशन पर तकनीकी उन्नति के माध्यम से कैसे बढ़ाएं मैनेजमेंट कौशल

*सीसिम बिजनेस सिम्युलेशन ओर से आयोजित सिम्युलेशन र्कशॉप में एस आर ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *