Breaking News

लज्जत-ए-अवधः क्यूजीन वॉक में लखनऊ के लजीज व्यंजनों का स्वाद ले सकेंगे पर्यटक

हुसैनाबाद में निर्माणाधीन फूड कोर्ट व म्यूजियम के सामने स्ट्रीट वेन्डरों को इसके लिए दी जाएगी जगह

लखनऊ विकास प्राधिकरण की अध्यक्ष/मण्डलायुक्त डॉ0 रोशन जैकब ने हेरिटेज जोन में विकास एवं सौंदर्यीकरण के कार्यों के सम्बंध में आयोजित बैठक में अधिकारियों को दिये निर्देश

कैसरबाग चौराहे के सौंदर्यीकरण का कार्य जल्द होगा शुरू, फसाड संरक्षित करने के लिए हटायी जाएंगे होर्डिंग्स/बोर्ड

लखनऊ घूमने आने वाले पर्यटकों को शहर के लजीज व्यंजनों का स्वाद एक ही जगह मिल सके। इसके लिए हेरिटेज जोन में लज्जत-ए-लखनऊ नाम से क्यूजीन वॉक विकसित किया जाएगा। लखनऊ विकास प्राधिकरण की अध्यक्ष/मण्डलायुक्त डॉ0 रोशन जैकब ने हेरिटेज जोन में विकास एवं सौदर्यीकरण के कार्यों के सम्बंध में अधिकारियों व कंसलटेंट को इस सम्बंध में निर्देश प्राधिकरण भवन में दिये।

मण्डलायुक्त ने कहा कि इसके लिए हुसैनाबाद में निर्माणाधीन फूड कोर्ट एवं म्यूजियम के सामने वाली सड़क के किनारे स्ट्रीट फूड वेन्डरों को जगह देने की व्यवस्था बनायी जाए, जहां वेन्डर्स निर्धारित गाइड लाइन के तहत कार्य करते हुए डिश सर्व कर सकेंगे। इसके साथ ही यहां इक्का-तांगा, वाहनों की पार्किंग व इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए चार्जिंग प्वाइंट बनाने का प्राविधान किया जाए। उन्होंने कहा कि हेरिटेज जोन में लगाये जाने वाले साइनेज, स्ट्रीट फर्नीचर व स्ट्रीट लाइटों की डिजाइन बेहद आकर्षक व कलात्मक हों, इसके लिए शहर वासियों से सुझाव लिये जाएं।

बैठक में प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डॉ0 इन्द्रमणि त्रिपाठी द्वारा कैसरबाग चौराहे के सौंदर्यीकरण के सम्बंध में किये जाने वाले आवश्यक कार्यों की रिपोर्ट प्रस्तुत की, जिसमें बताया गया कि स्थल पर कुछ भवनों के सीवर खुले में बह रहे हैं तथा जल निकासी की सुगम व्यवस्था नहीं है। इसके अलावा खुले में लगे बिजली के तारों को सौंदर्यीकरण के क्रम में अंडरग्राउंड कराने की जरूरत है। इस पर मण्डलायुक्त ने नगर निगम, जल निगम व लेसा के अधिकारियों को जल्द से जल्द इन कार्यों को पूर्ण कराने के निर्देश दिये। उपाध्यक्ष ने बताया कि चौराहे के फसाड को संरक्षित करने के लिए होर्डिंग्स व बोर्ड को हटाने का कार्य इसी सप्ताह से शुरू करा दिया जाएगा।

बैठक के दौरान मण्डलायुक्त ने गुलिस्तां-ए-इरम, लाल बारादरी एवं दर्शन विला कोठी के सौंदर्यीकरण के सम्बंध में भी चर्चा की। इसमें अधिकारियों द्वारा उनके संज्ञान में लाया गया कि दर्शन विला कोठी में स्वास्थ्य विभाग द्वारा अस्थायी निर्माण करा लिये गये हैं तथा कुछ जगहों पर निष्प्रयोज्य सामाग्री डम्प कर रखी गयी है। इस पर मण्डलायुक्त ने बैठक में उपस्थित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को शीघ्र ही अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिये। वहीं, बटलर झील सौंदर्यीकरण प्रोजेक्ट के अंतर्गत सीवर लाइन के उच्चीकरण के कार्य की अवश्यकता के मद्देनजर मण्डलायुक्त ने जल निगम के अधिकारियों को इस सम्बंध में योजना तैयार करते हुए कार्य शुरू कराने के निर्देश दिये।

बैठक में प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डॉ0 इन्द्रमणि त्रिपाठी, सचिव पवन कुमार गंगवार, अपर जिलाधिकारी (पूर्वी) अमित कुमार, अपर नगर आयुक्त पंकज सिंह, अधीक्षण अभियंता ए0के0 सिंह, ए0के0टी0यू की फैकेल्टी ऑफ आर्किटेक्चर एंड प्लानिंग की डीन डॉ0 वंदना सहगल समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी, अभियंता व आर्किटेक्ट उपस्थित रहे।

 

About ATN-Editor

Check Also

“पर्वतमाला परियोजना” के तहत आने वाले पांच वर्षों में 1.25 लाख करोड़ रुपये की लागत से 200 से अधिक परियोजनाएं- मंत्री नितिन गडकरी

  हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता समग्र परियोजना लागत को कम करके रोपवे को आर्थिक रूप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *