Breaking News

सहारा हॉस्पिटल में भव्यता से मनाई गई लैम्प लाइट सेरेमनी हॉस्पिटल में भव्यता से मनाई गई लैम्प लाइट सेरेमनी

-सांस्कृतिक कार्यक्रम के जरिए नर्सिंग छात्राओं की मनमोहक रही प्रस्तुति

गोमतीनगर स्थित सहारा हास्पिटल में सोमवार को 16 वीं बार भव्यता के साथ लैम्प लाइट सेरेमनी का आयोजन सहारा कालेज आफ नर्सिंग एंड पैरामेडिकल साइंसेस के प्रांगण में बीएससी नर्सिंग प्रथम वर्ष की छात्राओं के लिए किया गया। इस अवसर पर एक तरफ छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किये तो वहीं विभिन्न प्रतियोगियाओं में उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों ने सम्मानित किया गया।
हास्पिटल के मल्टीपरपज हाल में सहारा कॉलेज ऑफ नर्सिंग एवं पैरामेडिकल साइंसेस की ओर से आयोजित कार्यक्रम के शुभारंभ में मुख्य अतिथि सहारा हॉस्पिटल के डायरेक्टर मेडिकल हेल्थ प्रोफेसर डॉ. मजहर हुसैन तथा विशिष्ट अतिथि सहारा इंडिया परिवार के वरिष्ठ सलाहकार श्री अनिल विक्रम सिंह ने संयुक्त रूप से देवी मां सरस्वती के सम्मुख दीप जलाकर एवं उनको माल्यार्पण किया। इस अवसर पर कॉलेज एवं नर्सिंग की छात्राओं ने कई सांस्कृतिक कार्यक्रम के जरिए मनमोहक प्रस्तुति की। सहारा कॉलेज ऑफ नर्सिंग और पैरामेडिकल साइंसेज की बीएससी नर्सिंग की प्रथम वर्ष की छात्राओं ने हाथों में दीपक लेकर एक समर्पित नर्स बनने की शपथ ली। सभा को सम्बोधित करते हुए सहारा हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉ. मजहर हुसैन ने नर्सों का महत्वपूर्ण योगदान बताया और कहा कि मरीजों को चिकित्सक दवा लिखते हैं, पर उसको नर्सिंग 24 घंटे पूर्ण रूप से कार्यान्वन करती हैं। उन्होंने नर्सों को मरीजों की निरूस्वार्थ भाव से सेवा करने के लिए प्रेरित किया। विशिष्ट अतिथि सहारा इंडिया परिवार के सीनियर एडवाइजर श्री अनिल विक्रम सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि वर्ष 2009 में सहारा हॉस्पिटल को हमारे मुख्य अभिभावक माननीय सहाराश्री द्वारा इस हास्पिटल को जनमानस को समर्पित किया गया था। जिस सोच के साथ सहारा हॉस्पिटल का निर्मित करवाया है, उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हम सभी मिलकर नित नई ऊंचाइयों पर पहुंचाने को तत्पर है। श्री सिंह ने कहा कि नर्सिंग को विश्वास, त्याग, कुशलता, कर्मठता, मानवता और सेवा का दूसरा नाम बताया। कालेज की प्रधानाचार्या प्रोफेसर रूसली निर्मल ने मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथि के साथ सहारा कॉलेज ऑफ नर्सिंग एंड पैरामेडिकल साइंसेज की मेधावी छात्राओं को परीक्षा में उनके शानदार प्रदर्शन करने के लिए भी सम्मानित किया गया।

 

About ATN-Editor

Check Also

लेफ्ट मेन कोरोनरी आर्टरी ९० प्रतिशत और अन्य तीनों आर्टरी ब्लॉक की सहारा हॉस्पिटल ने बचाई जान

६८ वर्षीय पुरुष मरीज पहले से हाई ब्लड प्रेशर और शुगर से ग्रसित थे और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *