Breaking News

पीटीसी इंडस्ट्रीज ने सफ्रान सिंगल-आइज़ल जेट को पावर देने वाले LEAP इंजन के लिए कास्टिंग पार्ट्स उपलब्ध कराने के लिए किया अनुबंध

 

भारतीय कंपनी पीटीसी इंडस्ट्रीज लिमिटेड तथा एयरो इंजन डिजाइन, विकास और विनिर्माण के क्षेत्र में विश्व प्रसिद्ध फ्रांसीसी कंपनी सफ्रान एयरक्राफ्ट ने सम्मिलित रूप से LEAP इंजन कास्टिंग पार्ट्स के बनाने हेतु एक बहु-वर्षीय अनुबंध की घोषणा की। 

अनुबंध की शर्तों के तहत, पीटीसी इंडस्ट्रीज सफरान एयरक्राफ्ट इंजन के लिए टाइटेनियम-कास्टिंग पार्ट्स का उत्पादन करेगी। यह समझौता भारत सरकार की “मेक इन इंडिया” नीति के प्रति प्रतिबद्धता को दर्शाता है। सफ्रान एयरक्राफ्ट इंजन की महत्वाकांक्षा भारत में एक व्यापक एयरो इंजन पारिस्थितिकी तंत्र विकसित करना है, जो LEAP उत्पादन रैंप-अप के लिए निर्मित अपनी वैश्विक आपूर्ति-श्रृंखला को मजबूत करता है।

लखनऊ (उत्तर प्रदेश) में स्थित, पीटीसी इंडस्ट्रीज के पास उन्नत कास्टिंग प्रक्रियाओं के साथ-साथ सटीक मशीनिंग की विशेषज्ञता है। LEAP इंजन के सिंगल-आइज़ल जेट को पावर देने वाले पहले टाइटेनियम कास्टिंग पार्ट्स की आपूर्ति 2024 की शुरुआत में किया जाना निर्धारित है।

*पीटीसी इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक एम. सचिन अग्रवाल* ने कहा, “हमें दुनिया के अग्रणी विमान इंजन निर्माताओं में से एक के साथ एक नया सहयोग विकसित करके अत्यधिक खुशी है।” “इस साझेदारी के द्वारा, LEAP कार्यक्रम की महत्वाकांक्षी उत्पादन चुनौतियों से निपटने हेतु हम कास्टिंग प्रक्रिया में अपनी विशेषज्ञता का लाभ उठाएंगे।”

*सफरान एयरक्राफ्ट इंजन के वाइस प्रेसिडेंट परचेजिंग डोमिनिक डुपुय* ने कहा, “पीटीसी इंडस्ट्रीज का सफरान एयरक्राफ्ट इंजन की वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला का विस्तार करना हमारे लिए एक महत्वपूर्ण कदम है I” “पीटीसी द्वारा नयी तकनीकों में निवेश करना आने वाले वर्षों में एक सफल सहयोग का मार्ग प्रशस्त करेगा।”

सैफ्रॉन एयरक्राफ्ट इंजन, अन्य सैफ्रॉन कंपनियों तथा देश में पांच उत्पादन इकायों के साथ (हैदराबाद, बैंगलोर और गोवा के बीच), भारत में मजबूत रूप से विद्यमान है तथा LEAP MRO गतिविधियों के लिए समर्पित हैदराबाद में बन रही छठी साइट 2025 तक पूरी की जाएंगी। सैफ्रॉन, देश दुनिया में LEAP इंजन का तीसरा सबसे बड़ा ऑपरेटर है I सैफ्रॉन ने 75% भारतीय वाणिज्यिक विमान सी.एफ.एम के उन्नत टर्बोफैन से सुसज्जित किये है। आज तक, भारतीय एयरलाइंस द्वारा 2,200 से अधिक लीप इंजन का ऑर्डर दिया गया है

About ATN-Editor

Check Also

यूपीआई प्लेटफॉर्म के माध्यम से सीमा पार धन भेजने का भी काम करेंगा-डीजी यूपीयू

पूजा श्रीवास्तव यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन वैश्विक डाक नेटवर्क का उपयोग करके सीमापार प्रेषण (रेमिटेंस) के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *