Breaking News

-सहारा हास्पिटल में निरूशुल्क आईवीएफ शिविर के शुभारम्भ पर केक कटिंग सेरेमनी

बिना किसी हिचकिचाहट के सहारा आईवीएफ का चयन करें डा. ऋचा

लखनऊ। विश्व आईवीएफ दिवस पर सहारा हास्पिटल में नि शुल्क आईवीएफ शिविर का आयोजन किया गया, इसमें लखनऊ ही बल्कि नेपाल, गोरखपुर, ऊंचाहार रायबरेली, हरदोई सहित आसपास के जनपदों से जरूरतमंद दंपत्ति इस सेवा का लाभ उठाने के लिए पहुंचे, जहां हॉस्पिटल की हेड इनफर्टिलिटी एंड आईवीएफ डॉक्टर ऋचा गंगवार ने परामर्श दिया तो दूसरी तरफ अल्ट्रासाउंड और सीमेन एनालिसिस की निशुल्क सुविधा दी गई।
शिविर का शुभारम्भ सहारा इंडिया परिवार के वरिष्ठ सलाहकार अनिल विक्रम सिंह और डा. ऋचा गंगवार ने संयुक्त रूप से आई वी एफ टीम सहित फीता काटा और केक कटिंग सेरेमनी सम्पन्न की।
इस अवसर पर श्री सिंह ने बताया कि हमारे अभिभावक सहाराश्री जी की प्रेरणा से विश्वस्तरीय सहारा आईवीएफ लैब द्वारा उत्कृष्ट सेवाएं दी जा रही है। मरीजों का इलाज गोपनीयता की सुरक्षा के साथ गुणवत्तापूर्ण तरीके से किया जाता है। दंपत्तियों को आईवीएफ का चयन करने में बिना किसी हिचकिचाहट के आगे आना चाहिए ताकि उनका मातृत्व का सपना साकार हो। आज विश्व आईवीएफ दिवस के मौके पर आईवीएफ पैकेज के लिए पंजीकरण कराने पर 51000 रुपये की छूट भी दी गयी।

सहारा आईवीएफ की सुविधाओं के संदर्भ में डॉक्टर ऋचा ने बताया कि वैसे तो आईवीएफ की एक साइकिल की सफलता दर लगभग 35 से 40 प्रतिशत तक रहती है, क्योंकि सहारा आईवीएफ सेन्टर की लैब विश्वस्तरीय व अत्याधुनिक उपकरणों से लैस है, यहां अन्तर्राष्ट्रीय ट्रेंड आईवीएफ एक्सपर्ट द्वारा आधुनिक पद्धति से उपचार उपलब्ध करवाया जाता है, इसलिए अच्छे सेंटर का चयन करने से यह सफलता दर 80 प्रतिशत तक हो सकती है। उन्होंने बताया कि सहारा हास्पिटल में आईवीएफ सेंटर में गर्भधारण से डिलीवरी तक सम्पूर्ण सुविधा एक ही छत के नीचे उपलब्ध है। अब सहारा हॉस्पिटल के सहारा आईवीएफ सेंटर में मां बनने का सपना सुलभता और कम खर्च में ही साकार हो सकता है।
आईवीएफ से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए मोबाइल नं 7379778827 और 0522-6782146 पर सुबह 9 बजे से सायं 5 बजे तक और किसी अन्य जानकारी प्राप्त करने हेतु सहारा हॉस्पिटल की 24 घंटे हेल्पलाइन नम्बर-05226780001/0002 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

 

 

About ATN-Editor

Check Also

सहारा हास्पिटल के प्लास्टिक सर्जन डॉक्टरों की टीम नित नए मुकाम हासिल कर निरंतर लोगों को सफल इलाज प्रदान कर रही है- अनिल विक्रम

सीतापुर के निवासी 30 वर्षीय संदीप नाम के मरीज की किचन में आटा मशीन में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *