Breaking News

15 अक्टूबर से श्री रामलीला समिति ऐशबाग का रामोत्सव-2023

 

पूजा श्रीवास्तव

श्री राम लीला समिति ऐशबाग लखनऊ के तत्वावधान में आगामी 15 से 26 अक्टूबर तक श्री राम लीला समिति ऐशबाग के प्रांगण में रामोत्सव -2023 का आयोजन किया जाएगा।
26 अक्टूबर 2023 को रामोत्सव-2023 का समापन लवकुश लीला ( सीता जी का धरती में समा जाना) के साथ होगा। यें बातें प्रेसवार्ता के दौरान श्री राम लीला समिति ऐशबाग के सचिव पं आदित्य द्विवेदी और अध्यक्ष हरीश चन्द्र अग्रवाल ने संयुक्त रूप से तुलसी सभागार मे दी।
सचिव पं आदित्य द्विवेदी ने बताया कि इस बार समापन के साथ लोगों को एक संदेश भी देना है कि भगवान राम के बाद उनके सुपुत्रों को महाऋषि बाल्मिीकी ने अपना पूरा ज्ञान दिया जिससे उन्होंने समाज के अंतिम पायदान पर बैठे व्यक्ति को समाज की मुख्य धारा में लाकर उसका उद्धार किया।
पं आदित्य द्विवेदी ने बताया कि सीता जी का धरती में समा जाना और उनकों दो बार अग्नि परीक्षा देनी पढ़ी ये भ्रंति को दूर करने की कोशिश भी करना है।

सचिव पं आदित्य द्विवेदी ने बताय कि इस साल भी कुम्भकरण और मेधनाथ का पुतला दहन नही किया जायेगा क्योकि उनके द्वारा किये गये कार्यें की सजा ये नही है।

पं आदित्य द्विवेदी ने बताया कि रामोत्सव -2023 का शुभारम्भ 15 अक्टूबर से होगा, जिसके अंतर्गत गणेश जन्म, आकाशवाणी, राम जन्म, विश्वामित्र का राम को ले जाना, ताड़का वध, मारीच सुबाहु वध, अहिल्या उद्धार लीला होगी। इसके अलावा नृत्या डांस एकेडमी और रुद्र कला एकेडमी का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा।

इसी प्रकार 16 अक्टूबर 2023 को फुलवारी लीला, जनक प्रतिज्ञा, धनुष यज्ञ, सीता स्वयंवर, परशुराम लक्ष्मण संवाद, राम जानकी विवाह, विदाई लीला होगी। इसके अलावा स्वर म्यूज़िक एकेडमी, सुरभि कल्चरल डांस एकेडमी और उड़ान डांस एकेडमी का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा।

उन्होनें बताया कि 17 अक्टूबर 2023 को बारात का अयोध्या प्रस्थान, राम राज्याभिषेक की घोषणा, दशरथ कैकई संवाद, राम वन गमन, प्रजा विद्रोह लीला होगी। इसके अलावा सुन्दरन आर्ट एकेडमी, नृत्य मंथन स्कूल ऑफ डांस का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा।

पंडित आदित्य द्विवेदी ने बताया कि 18 अक्टूबर 2023 को निषादराज राम मिलन, केवट संवाद, सुमंत्र का वापस जाना, दशरथ विलाप, श्रवण कुमार कथा, दशरथ स्वर्ग गमन, कैकई भरत संवाद, मंथरा का महल से निष्कासन और कैकई परित्याग लीला होगी। इसके अलावा जलोटा एकेडमी, हार्ट एण्ड सोल डांस एकेडमी और नव कला डांस एकेडमी का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा।

इसी क्रम में 19 अक्टूबर 2023 को कुटिया निर्माण, सीता स्वप्न दर्शन, भरत का वन प्रस्थान, निषादराज भरत संवाद, भरत राम मिलन, भरत का चरण पादुका लेकर वापस जाना, भरत का महल त्याग देना, नंदीग्राम गमन, कैकई भरत संवाद एवं कैकई विलाप लीला होगी। इसके अलावा आशा नृत्यांगना फाऊंडेशन और अक्षरा आर्ट एण्ड डांस एकेडमी का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा।

प्रेसवार्ता में श्री रामलीला समिति के अध्यक्ष हरीश चन्द्र अग्रवाल ने बताया कि 20 अक्टूबर 2023 को सूपनखा का राम के प्रति कामातुर होना, लक्ष्मण द्वारा नासिका विच्छेदन, सूपनखा का रावण के दरबार जाना, रावण मारीच संवाद, सीता हरण, जटायु वध, सीता खोज और जटायु राम संवाद लीला होगी। इसके अलावा धानवी फाऊंडेशन और आंचल समाज उत्थान सेवा समिति का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा।

इसी प्रकार 21 अक्टूबर 2023 को राम शबरी मिलन, राम हनुमान मिलन, राम सुग्रीव मिलन, अंगद तारा संवाद, बाली तारा संवाद, सुग्रीव बाली युद्ध, बाली वध, तारा विलाप लीला होगी। इसके अलावा स्वरतमीका इंस्टीटयूट ऑफ डांस एकेडमी और नृत्य धाम एकेडमी का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा।

इसी प्रकार 22 अक्टूबर 2023 को अशोक वाटिका में रावण सीता संवाद, त्रिजटा सीता संवाद, राम लक्ष्मण संवाद, क्रोधित लक्ष्मण का सुग्रीव के पास जाना, सीता खोज, संपाती मिलन, हनुमान का लंका प्रस्थान, समुद्र लांघना, विभीषण हनुमान संवाद, रावण सीता संवाद, हनुमान सीता संवाद, अशोक वाटिका विध्वंस, अक्षय वध, हनुमान का ब्रह्मफांस में बंधना, रावण हनुमान संवाद और लंका दहन लीला होगी। इसके अलावा सृजन डांस परफार्मींग आर्ट और सुभद्रा नृत्य निकेतन का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा।

हरीश चंद्र अग्रवाल ने बताया कि 23 अक्टूबर 2023 को रामा दल में हनुमान का चूड़ामणि देना, दरबार से विभीषण का निष्कासन, राम विभीषण मिलन, विभीषण राज्याभिषेक, समुद्र पूजा, सेतुबंध स्थापना, रावण अंगद संवाद, युद्ध घोषणा, दुर्मुख वध, कुंभकरण रावण संवाद, कुंभकरण वध, नाग फांस, लक्ष्मण शक्ति, संजीवनी लाना व मेघनाथ वध लीला होगी। इसके अलावा नृत्य सुन्दरम डांस स्टूडियो का सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा।

इसी प्रकार 24 अक्टूबर 2023 को विजयादशमी, मंदोदरी रावण संवाद, मेघनाथ वध, रावण वध एवं पुतला दहन और आतिशबाजी होगी। इसके अलावा यशी चतुर्वेदी का नृत्य होगा।

उन्होंने आगे बताया कि 25 अक्टूबर 2023 को भरत मिलाप शोभायात्रा ऐशबाग रामलीला परिसर से निकाली जायेगी, जो राजधानी के विभिन्न क्षेत्रों से होते हुए वापस रामलीला परिसर पहुंचेगी, जहां पर भरत मिलाप और राम का राज्याभिषेक एवं बधाई गीतों संग लोकनृत्य की मनोरम प्रस्तुति होगी। प्रेसवार्ता में कोषाध्यक्ष प्रमोद अग्रवाल, रामलीला निर्देशक भास्कर बोस आदि उपस्थित थे।

 

About ATN-Editor

Check Also

भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव 9 अप्रैल से 

      लखनऊ , 7 अप्रैल 2024। तुलसी शोध संस्थान उत्तर प्रदेश के अंतर्गत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *