Breaking News

सहारा हास्पिटल में 50 मरीजों की रोबोटिक सर्जरी पूरी

-केक कटिंग सेरेमनी के साथ रोबोटिक सर्जरी पर व्याख्यान
———————————————–
-रोबोटिक सर्जरी के फायदे:-
-कम रक्तरुााव
-कम घाव
-कम संक्रमण की आशंका
-जल्दी रिकवरी यानी कम दिनों का हास्पिटलाइजेशन
———————————————-
-रोबोटिक सर्जरी के उपयोग
-प्रोस्टेट कैंसर
-पेशाब की थैली का कैंसर
-गुर्दे का कैंसर
-अंडकोष का कैंसर
-गर्भाशय कैंसर
-हार्निया, लिवर, गॉलब्लैडर सर्जरी,
-बड़ी आंत, छोटी आंत पैंक्रियाज सर्जरी

सहारा हास्पिटल गोमतीनगर में हाल ही में अत्याधुनिक रोबोटिक सर्जरी की शुरुआत की गयी और शत प्रतिशत बेहतर परिणाम के चलते 50 मरीजों की रोबोटिक सर्जरी करने का कीर्तिमान बन गया। इस उपलब्धि के मिलने पर बृहस्पतिवार को हास्पिटल के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में केक कटिंग सेरेमनी का आयोजन किया। इस अवसर पर हास्पिटल के विशेषज्ञ डाक्टरों ने इस सर्जरी की उपयोगिता और तकनीक पर प्रकाश डाला।

व्याख्यान सत्र में यूरोलॉजिस्ट एण्ड किडनी ट्रांसप्लांट सर्जन डा. प्रवीन पाण्डेय ने कहा कि लोप्रोस्कोपी सर्जरी का एडवांस वर्जन रोबोटिक सर्जरी है। रोबोटिक सर्जरी का सबसे बड़ा फायदा यह है कि बेहद छोटा चीरा लगाकर ऑपरेशन किया जाता है। इसमें रिकवरी भी जल्दी होती है और कैमरे के जरिए पूरा ऑपरेशन लाइव दिखता रहता है। इसके हाई डेफिनेशन वीडियो और फोटो रिकॉर्ड रहते हैं। जूम इन करके डॉक्टर माइनर और नाजुक अंगों की सर्जरी आसानी से कर सकते हैं। मरीज को सामान्य ऑपरेशन के मुकाबले बहुत कम दर्द होता है। असहनीय दर्द से छुटकारा मिलता है।
उन्होंने बताया कि पिछले कुछ सालों में मेडिकल सेक्टर में रोबोटिक सर्जरी का इस्तेमाल काफी बढ़ा है। इस सर्जरी की मदद से अब मुश्किल से मुश्किल ऑपरेशन किया जा रहा है। शरीर के कुछ ऐसे अंग होते हैं, जहां पहुंचना मुश्किल और जटिल होता है। हालांकि रोबोट से की जाने वाली सर्जरी की मदद से इन अंगों तक भी आसानी से पहुंचा जा सकता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि कैंसर जैसे खतरनाक रोग में भी यह सर्जरी कारगर है। उक्त पचास केस में यूरोलॉजी से संबंधित कई मरीजों की रोबोटिक सर्जरी की गयी। इसी प्रकार सर्जरी में गाइनी में और गैस्ट्रो में भी कई मरीजों की रोबोटिक सर्जरी की गयी।
हास्पिटल के गैस्ट्रो लैप्रोस्कोपिक एण्ड बैरियाट्रिक सर्जन डा. पुनीत गुप्ता और जनरल एण्ड लैप्रोस्कोपिक सर्जन डा. विजय पाण्डेय ने रोबोटिक सर्जरी के लाभ बताए।

सहारा इंडिया परिवार के सीनियर एडवाइजर अनिल विक्रम सिंह ने बताया कि हमारे अभिभावक माननीय सहाराश्री जी का विजन रहा है कि सहारा हास्पिटल को विश्वस्तरीय सुविधाओं से लैस रखा जाए। इसी कड़ी में रोबोटिक सर्जरी की शुरूआत की गयी है। सिर्फ सर्जरी ही नहीं अत्याधुनिक उपकरण और संसाधन सभी विभागों में मौजूद हैं ताकि मरीजों को किफायती दरों पर बेहतर लाभ मिल सके। इसके चलते हास्पिटल चिकित्सा क्षेत्र में नये कीर्तिमान स्थापित कर रहा है।

इस अवसर पर सहारा हॉस्पिटल के वरिष्ठ मेडिकल, पैरामेडिकल व अन्य वरिष्ठ कार्यकर्ता मौजूद थे।

About ATN-Editor

Check Also

सहारा हास्पिटल के प्लास्टिक सर्जन डॉक्टरों की टीम नित नए मुकाम हासिल कर निरंतर लोगों को सफल इलाज प्रदान कर रही है- अनिल विक्रम

सीतापुर के निवासी 30 वर्षीय संदीप नाम के मरीज की किचन में आटा मशीन में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *