Breaking News

मेरठ से 20 करोड़ के गहने-नकदी लेकर फरार हुआ सर्राफ गिरफ्तार, हॉलमार्क का निशान लगवाने के नाम पर लिए थे जेवर

शहजाद सिंकदर

मेरठ । एसओजी की टीम और थाना पुलिस आरोपित की तलाश में जगह-जगह ताबड़तोड़ दबिश दे रही थी। इस बीच देर रात पुलिस टीम ने देहरादून से सर्राफ को गिरफ्तार कर लिया। सर्राफ पर बीस करोड़ रुपए के गहने ले जाने का आरोप था। इस मामले में डेढ़ सौ पीड़ित पुलिस से मिले थे और शिकायत दर्ज करायी थी। कंकरखेड़ा के गुरु नानक बाजार से एक सप्ताह पूर्व लोगों से करीब 20 करोड रुपए कीमत के गहने और नगदी लेकर फरार सर्राफ विनीत वालिया आखिरकार पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया। एसपी सिटी की एसओजी टीम और कंकरखेड़ा थाना पुलिस ने देहरादून से गिरफ्तार किया है। सर्राफ को मेरठ लाया गया है। हालांकि सर्राफ अभी तक पुलिस से यही बता रहा है कि वह घूमने गया था। कंकर खेड़ा क्षेत्र की यूरोपियन स्टेट कॉलोनी निवासी विनीत वालिया की कंकरखेड़ा के गुरुनानक बाजार में बाबा ज्वेलर्स के नाम से दुकान है। आरोप है कि विनीत वालिया ने क्षेत्र के लोगों से कहा था कि वह अपने सोने के गहनों पर हॉलमार्क का निशान उससे लगवा लें। अगर निशान नहीं लगा तो गहने नकली साबित होंगे। इस कारण भारी संख्या में लोगों ने सर्राफ को सोने की गहने दिए। साथ ही काफी संख्या में लोगों ने नगदी भी जमा की, जिससे कि वह सर्राफ से गहने खरीद सके। मगर इन सब से पहले ही सर्राफ गहने और नगदी लेकर फरार हो गया। इस मामले में पुलिस ने सर्राफ के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया था। साथ ही करीब डेढ़ सौ पीड़ित ने तहरीर सर्राफ के खिलाफ कंकरखेड़ा थाने से लेकर सीओ दौराला, एसपी सिटी और एसएसपी दफ्तर में दी गई थी। हालांकि पुलिस मुकदमे में मिली तहरीर को शामिल करने की बात कह रही है।
सीओ दौराला अभिषेक पटेल का कहना है कि सर्राफ को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस टीम उससे पूछताछ कर रही है।

 

About ATN-Editor

Check Also

“पर्वतमाला परियोजना” के तहत आने वाले पांच वर्षों में 1.25 लाख करोड़ रुपये की लागत से 200 से अधिक परियोजनाएं- मंत्री नितिन गडकरी

  हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता समग्र परियोजना लागत को कम करके रोपवे को आर्थिक रूप …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *