Breaking News

महिलाओं में गर्भाश्य कैंसर से मृत्यु दर का यह दुसरा बडा कारण है-प्रो0 अब्दुलकवी

महिलाओं के गर्भाश्य कैंसर के जागरूक्ता अभियान का समापन
पूजा श्रीवास्तव

गर्भाश्य के मुह का कैंसर महिलाओं की एक आम समस्या है, महिलाओं में गर्भाश्य कैंसर से मृत्यु दर का यह दुसरा बडा कारण है। अगर इसके लक्षणों का समय से पता चल जाये तो ंमहिलाओं की मृत्यु दर को घटाया जा सकता है। यें बातें निस्वॉ व कबालत में गर्भाश्य के मुह के कैंसर के कारण, लक्षण, बचाव एवं उपचार आदि पर जागरूक्ता अभियान मुहीम की शुरूआत करते हुए प्रधानाचार्य एवं अधीक्षक प्रो0 अब्दुलकवी ने राजकीय तकमील उत्तिब कालेज एवं चिकित्सालय, लखनऊ में कही।

इस अवसर पर विभाग में कार्यरत डा0 मरियम रोकईया व विभाग के विभागाध्यक्ष डा0 मनीराम सिंह ने चिकित्सालय परिसर में आने वाले रोगियों गर्भाश्य के मुह के कैंसर के लक्षणांे व बचाव के बारे में जागरूक किया।


उक्त कार्यक्रम के समापन सत्र को डा0 मनीराम सिंह नें बताया कि घबराने व परेशान होने की जरूरत नही है, समय रहते हुये हर समस्या का समाधान सम्भव हैं। महिलायें अपनी प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाये रखने के लिये अपने खान-पान एवं सफाई पर ध्यान दें, खासकर अपने शरीर में आयरन व कैलसियम के सामान्य स्तर को बनायें रखें।
इसके लिये मौसम के अनुसार खाद्य-पदार्थ का अधिक से अधिक सेवन करें।
इस अवसर पर विभाग के परास्नातक छात्राओं डा0 रूशदा फातिमा, डा0 नवाजिशॉ द्वारा चिकित्सालय परिसर मंे साप्ताहिक प्रस्तुति भी दी गयी।

अन्त में विभागाध्यक्ष डा0 सिंह द्वारा महिने भर चलने वाले उक्त कार्यक्रम के सफल आयोजन में सहयोग के लिये कालेज के प्रधानाचार्य एवं अधीक्षक प्रो0 अब्दुलकवी, विभाग में कार्यरत प्रवक्ता डा मरियम रोकईया व विभाग के परास्नातक छात्राओं डा0 रूशदा फातिमा, डा0 नवाजिशॉ, डा0 शुमबुल, डा0 गजाला, डा0 आयशा, डा0 फरहीन फातिमा तथा शारदादेवी व कु0 अजरा बेबी के साथ-साथ इण्टर्न आदि का धन्यवाद किया।

About ATN-Editor

Check Also

सहारा हास्पिटल के प्लास्टिक सर्जन डॉक्टरों की टीम नित नए मुकाम हासिल कर निरंतर लोगों को सफल इलाज प्रदान कर रही है- अनिल विक्रम

सीतापुर के निवासी 30 वर्षीय संदीप नाम के मरीज की किचन में आटा मशीन में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *